• Translate

    Shinchan Real Story - Shin Chan In Real Life Death Video || Real Story Of Shinchan In Hindi & English

    Shinchan Real Story - Shin Chan In Real Life Death Video || Real Story Of Shinchan In Hindi & English


    Shinchan Real Story - Shin Chan In Real Life Death Video || Real Story Of Shinchan In Hindi & English



    Crayon Shin-chan Japanese: Hepburn: Kureyon Shin-chan), also known as Shin Chan, is a Japanese manga series written and illustrated by Yoshito Usui. It follows the adventures of the five-year-old Shinnosuke "Shin" Nohara and his parents, baby sister, dog, neighbors, and friends and is set in Kasukabe, Saitama Prefecture of Japan.

    Crayon Shin-chan first appeared in 1990 in a Japanese weekly magazine called Weekly Manga Action, which was published by Futabasha. Due to the death of author Yoshito Usui, the manga in its original form ended on September 11, 2009. A new manga began in the summer of 2010 by members of Usui's team, titled New Crayon Shin-chan Shin Kureyon Shin-chan).

    An anime adaptation of the series began airing on TV Asahi in 1992 and is still ongoing on several television networks, worldwide. The show has now been dubbed in 30 languages which aired in 45 countries, has over 1007 episodes and 26 full-length movies. More than 275 million copies of the manga have been sold worldwide in 20 years.

    An anime spin-off titled Super Shiro, produced by Science Saru premiered in October 2019. The story follows Nohara's family dog, Shiro, becoming a superhero and protecting the legendary bone "Bobobobobone" from the evil inventor dog, Dekapoo and his ambitions of world domination.




    Many of the jokes in the series stem from Shin-chan's occasionally weird, unnatural and inappropriate use of language, as well as from his mischievous behavior. Consequently, non-Japanese readers and viewers may find it difficult to understand his jokes. In fact, some of them cannot be translated into other languages. In Japanese, certain set phrases almost always accompany certain actions; many of these phrases have standard responses. A typical gag involves Shin-chan confounding his parents by using the wrong phrase for the occasion; for instance, saying "Welcome back"okaeri nasai"instead of using a more suitable wording such as "I am home""Tadaima" when he comes home. Another difficulty in translating arises from the use of onomatopoeic Japanese words. 


    In scolding Shin-chan and attempting to educate him in proper behavior his parent or tutor may use such a phrase to indicate the correct action. Often through misinterpreting such a phrase as a different, though similar-sounding phrase, or through interpreting it in one sense when another is intended, Shin-chan will embark on a course of action which, while it may be what he thinks is being requested of him, leads to bizarre acts which serve only to annoy his parents or tutors even more. This is not restricted to onomatopoeic words, since almost any word can become a source of confusion for Shin-chan, including English loanwords, such as mistaking "cool" for "pool" ("That's pool!" or "Pūru da zo!"  for "That's cool!").




    Some other humorous themes which are repeated in the series are of a more universal nature, such as gags based on physical comedy (such as eating snow with chopsticks) or, as a child, unexpectedly using adult speech patterns or mannerisms. But even there, many of the gags may require an understanding of Japanese culture and/or language to be fully appreciated; for example, his "Mr. Elephant" impression, while being transparently obvious as a physical gag, also has a deeper resonance with contemporary Japanese culture since it refers to the popular Japanese children's song "Zou-san". 

    Shin-chan regularly becomes besotted with pretty female characters who are much older than him, and an additional source of humor is derived from his childlike attempts at wooing these characters, such as by asking them (inappropriately, on several levels) "Do you like green peppers?". He continually displays a lack of tact when talking to adults, asking questions such as "How many times did you go to the police?" to tough-looking men or "How old are you?" to elderly people.

    The series works under a sliding timescale where the characters have maintained their ages throughout the series. Though time has passed to allow for the rise and fall of several pop culture icons, marriages, pregnancies, and births of various characters, all the characters still maintain their age at the time of their introduction. For example, if the two major births in the series are taken into account (Shinnosuke's sister, Himawari, and his kindergarten teacher's child), Shinnosuke would be seven years old and in second or third grade, but he is not.




    India



    A Hindi dub of the anime started airing in India on Hungama TV on June 19, 2006, Later in Tamil dub and Telugu dub.

    There were complaints from parents over the main character's behavior and the attitudes exhibited towards elders on the show, both of which were seen as a negative influence on children. The series was banned in October 2008 by the story of Information and Broadcasting (India) on account of heavy nudity. Before the ban, the Hindi version of Crayon Shin-chan gained up to 60% of the channel's market share. After many requests from fans, the Indian censor boards heavily edited the content and revived the Indian dub on March 27, 2009.[citation needed] The jokes were edited to be more family-friendly, and all mentions of "alcohol" were replaced by mentions of "juice". Scenes that have been cut include instances of Shin-chan performing either the "Mr. Elephant" dance or the "butt-shaking" dance, and instances of Nene's mother beating up a stuffed toy in anger.

    13 films have been dubbed in Hindi, Tamil, and Telugu and have aired on Hungama TV. They also have to show the original stories about Shinhan on the TV.


    Shin Chan-a a name so oft heard thus dear to his enormous army of fans who uproar about simply like him! A total family performer as it has come to be presently, Shin Chan is a certain shot portion of unwinding. Be that as it may, all are not all that ruddy about this kid child of the occasions. As dark parody and dull droll shows itself through the character, Shin Chan draws pundits too. However, Shin Chan's genuine story is surprisingly lamentable one. 

    Be that as it may, even as faltering jokes have over and over aggravated crowd and pundits the same, Shin Chan keeps on being a worldwide brand. Television arrangement, magazine issues, adorable product and a ton of stuff summarize the Shin Chan universe. 



    The arrangement which follows the experiences of the five-year-old Shinnosuke "Shin" Nohara (Shin-Chan) and his folks, infant sister, canine, neighbors, and companions is set in Kasukabe, Saitama Prefecture. Likewise, as the most noteworthy netting enlivened establishment, with offers of over 100 million duplicates, Shin Chan sure is going solid even 25 years after his presentation. 

    Yet, in any event, when you watch Shin Chan on the TV and make the most of his undertakings without a doubt, what amount do you really think about him? Like his genuine name, or the way that Shin Chan could be a genuine kid! There is certainly more to this much-adored anime character past the passing appearances he makes on-screen. The tale of the worshiped manga character from his introduction to the world to his lamentable end was one mind-boggling ride. 




    1. Who Created Shinhan? 


    Shin Chan is maybe the most adored new-age animation character and a positive wonder in the realm of anime. A Japanese arrangement composed and represented by manga craftsman Yoshito Usui, Shin Chan showed up in a Japanese week by week magazine called Weekly Manga Action, which is distributed by Futabasha.





    2. When was Shin Chan Born or Started? 

    In 1990, Shin Chan appeared in the realm of manga civility Usui. 

    The manga in its unique structure anyway needed to end on September 11, 2009. The animation character returned as another manga in the late spring of 2010 by the name New Crayon Shin-chan. 

    Shin Chan initially began as a side project of the character Shinnosuke Nikaido from Darakuya Store Monogatari, another arrangement by Yoshito. As an anime arrangement, Shin Chan made its raid on TV Asahi in 1992 and proceeds to this date on a few broadcasting companies. As of late, an anime side project of Shin Chan titled Super Shiro has been reported.



    3. How shinned Chan Die? 


    As a manga comic character that went to the world when Yoshito Usui made Shin Chan in 1992, the anime arrangement and its character needed to reach a conclusion when Usui passed on September 11, 2009, in the wake of plunging to his demise from on of Mount Arafune. Colored pencil Shin Chan anyway kept on living until March 2010 as fresher original copies including the little fellow were found. 

    When Yoshito Usui died in 2009, aficionados of the Japanese anime character Crayon Shin-chan visited a remembrance to Usui, in Tokyo. 

    4. Uncovering Shin Chan's genuine face 


    For an animation character that would clearly be focused on the entertainment of small kids and children, Shin Chan as an anime arrangement is generally dull. This, as indicated by numerous fans, is because the manga character is displayed on a genuine youngster that makes up Shin Chan's somewhat appalling genuine story. 

    Clearly, Shinnosuke Nohara is the little youngster on whom the character of a multi-year-old Shin Chan is based. Nohara kicked the bucket in an auto collision while attempting to spare his more youthful sister. After his passing, the mother Misae encountered a time of profound hopelessness and she began outlining her lost child. A youthful Nohara and his mischiefs returned like flashes of memory as a grieving mother crayoned her dead kid into portrays. Afterward, when Usai looked at those lovely artistic creations, he was struck by the power of the despondency and expectation these portrayals at the same time reflected. As a genuine kid returned as a manga character through some crayoned pictures, the world quickly got on to Shin chan's genuine story that what before long developed to be a wonder. 

    By chance along these lines, even as an animation arrangement, Shin Chan could never air the last scene of the arrangement. The last scene would have moved with 

    Shin chan's genuine story where Shin Chan passes on attempting to spare his more youthful sister from an auto crash on the town's street. Be that as it may, regardless of whether Shin Chan was really a character dependent on a genuine kid stays an issue colossally discussed and reputed.



    5. Is Shin Chan really a genuine character? 


    Obviously, Shin Chan was likewise Usui's very own portrayal of youth. A defiant child that needed to accomplish such a great deal yet couldn't because he was excessively obliged by this present reality formed the character of Shin Chan when Usui set about in making him. 

    As a TV arrangement that concerned the genuine issues and circumstances, Shin Chan was a grown-up animation show when it circulated first during the 1990s. Yet, as its ubiquity developed, Shin Chan likewise 'developed' to rise as a family situated demonstrate taking into account a bigger crowd. No big surprise, the prevalence of the character and the arrangement likewise expanded complex. Besides, Shin Chan's genuine story spoke to individuals and the arrangement shot to magnificence. 

    6. Motion pictures dependent on the character Shin Chan 


    The motion pictures are dependent on the character of Shin Chan which delineates Shin Chan's genuine story come 6th in the rundown of most noteworthy netting anime arrangement everything being equal. 


    This Shin Chan film investigates the voyage of Shin-chan and the Kasukabe Defense Group as they learn and play out another military craftsmanship, a definitely no-stunt Kung Fu challenge on the phase-in Aiya Town, otherwise called the Chinatown of Kasukabe city. 

    Pastel Shin-chan: Fast Asleep! The Great Assault on Dreamy World! 

    The most elevated earning film in Shin Chan's story arrangement follows the title kindergartner and his family as they venture into the universe of dreams. 

    Shin Chan's story accepts a malicious turn as his father returns as a robot to display a testing time for our little saint and his family. 

    As an outsider Shiriri strangely 'ungrows' guardians into youngsters, the onus lays on Shin-chan to assist them with coming back to their grown-up structure. 

    The narrative of the exchange of Shin Chan's family to Mexico where they unwind the mystery of some strange prickly plant by a minor stroke of the incident. 

    Shin Chan assumes responsibility in this film story as a spring underneath his home should be tapped to pull off a salvage represent the world! 

    Our preferred noodles and a much progressively most loved Shin Chan make up this wonderful beast battling film. 

    Shin Chan's first frightfulness satire motion picture had Shin Chan searching for every single evil component. 

    Shin Chan and his family engage in a contest between two families, battling to have a circle professed to have the option to breathe life into back an amazing fiendishness soul. 

    This is the seventeenth film dependent on the Crayon Shin-chan arrangement. 

    Shin Chan's time-traveling story sees him return in time once again to crush a malevolent Lord Unkokusai in this film. 


    Regardless of whether you are kid enough not to be bothered by the genuine portrayals of the world or identically, grown-up enough not to think about them to some degree dull universe of Shin Chan humor, at that point you have found supreme harmony. Lay in those days and appreciate the mischiefs of the kid that is Shin Chan. In any event, till the time the notorious last scene pretense, if at any point!



    Shinchan Real Story - शिन चैन इन रियल लाइफ डेथ वीडियो || हिंदी और अंग्रेजी में Shinchan की असली कहानी



    क्रेयॉन शिन-चान (जापानी: हेपबर्न: कुरियन शिन-चान), जिसे शिन चैन के रूप में भी जाना जाता है, एक जापानी मंगा श्रृंखला है जिसे योशितो उसुई द्वारा लिखा और चित्रित किया गया है। यह पांच वर्षीय शिंओसुके "शिन" नोहारा और उसके माता-पिता, बच्चे की बहन, कुत्ते, पड़ोसियों और दोस्तों के कारनामों का अनुसरण करता है और इसे जापान के सिटामा प्रान्त के कसुबेबे में स्थापित किया गया है।

    क्रेयॉन शिन-चान पहली बार 1990 में साप्ताहिक साप्ताहिक एक्शन नामक एक जापानी साप्ताहिक पत्रिका में छपी थी, जिसे फताबाशा ने प्रकाशित किया था। लेखक योशितो उसुई की मृत्यु के कारण, अपने मूल रूप में मंगा 11 सितंबर, 2009 को समाप्त हो गया। 2010 की गर्मियों में उसी की टीम के सदस्यों द्वारा एक नया मंगा शुरू हुआ, जिसका नाम न्यू क्रेयॉन शिन-चान शिन सुर्योन शिन-चान था।

    श्रृंखला का एक एनीमे अनुकूलन 1992 में टीवी असाही पर प्रसारित होना शुरू हुआ और अभी भी दुनिया भर में कई टेलीविजन नेटवर्क पर चल रहा है। शो को अब 30 भाषाओं में डब किया गया है, जो 45 देशों में प्रसारित हुई, जिसमें 1007 एपिसोड और 26 पूर्ण लंबाई वाली फिल्में हैं। 20 वर्षों में दुनिया भर में मंगा की 275 मिलियन से अधिक प्रतियां बिक चुकी हैं।

    अक्टूबर 2019 में विज्ञान सारू द्वारा निर्मित सुपर शिरो शीर्षक वाली एक एनीमे स्पिन-ऑफ है। कहानी नोहारा के पारिवारिक कुत्ते, शेरो का अनुसरण करती है, एक सुपरहीरो बनती है और बुराई करने वाले कुत्ते, डेकापू और दुनिया की उसकी महत्वाकांक्षाओं से पौराणिक हड्डी "बॉबोबोबोन" की रक्षा करती है। वर्चस्व।




    श्रृंखला के कई चुटकुले शिन-चान के कभी-कभार अजीब, अप्राकृतिक और अनुचित भाषा के उपयोग के साथ-साथ उनके शरारती व्यवहार से उपजा है। नतीजतन, गैर-जापानी पाठकों और दर्शकों को उसके चुटकुलों को समझना मुश्किल हो सकता है। वास्तव में, उनमें से कुछ का अन्य भाषाओं में अनुवाद नहीं किया जा सकता है। जापानी में, कुछ निश्चित वाक्यांशों में लगभग हमेशा कुछ क्रियाएं होती हैं; इनमें से कई वाक्यांशों में मानक प्रतिक्रियाएं हैं। अवसर के लिए गलत वाक्यांश का उपयोग करके अपने माता-पिता को भ्रमित करने वाले शिन-चान में एक विशिष्ट गाग शामिल होता है; उदाहरण के लिए, "वेलकम बैक" "वेलकम नसाई" कहने के बजाय, वह घर आने पर "आई एम होम" "तदिमा" जैसे अधिक उपयुक्त शब्द का उपयोग करने के बजाय, ओनोमेटोपोए जापानी शब्दों के उपयोग से अनुवाद करने में एक और कठिनाई उत्पन्न होती है।

    शिन-चान को डांटने और उचित व्यवहार में उसे शिक्षित करने के प्रयास में उसके माता-पिता या ट्यूटर सही कार्रवाई का संकेत देने के लिए इस तरह के वाक्यांश का उपयोग कर सकते हैं। अक्सर इस तरह के वाक्यांश को एक अलग, हालांकि समान-ध्वनि वाले वाक्यांश के रूप में गलत तरीके से व्याख्या करने के माध्यम से, या दूसरे अर्थ में इसे एक अर्थ में व्याख्या करने के माध्यम से, शिन-चान कार्रवाई के एक कोर्स पर लगेंगे, जबकि यह हो सकता है कि वह क्या सोचते हैं। उसके लिए, विचित्र कृत्यों की ओर जाता है जो केवल अपने माता-पिता या ट्यूटर्स को और अधिक परेशान करने के लिए सेवा करता है। यह onomatopoeic शब्दों तक सीमित नहीं है, क्योंकि लगभग कोई भी शब्द शिन-चान के लिए भ्रम का स्रोत बन सकता है, जिसमें अंग्रेजी लोनवर्ड्स भी शामिल है, जैसे "पूल" ("वह पूल!" या "पूनम दा ज़ो!" "यह अच्छा है!")।

    कुछ अन्य हास्य प्रसंग जो श्रृंखला में दोहराए जाते हैं, वे अधिक सार्वभौमिक प्रकृति के होते हैं, जैसे कि शारीरिक कॉमेडी पर आधारित गैग (जैसे कि चीनी काँटा के साथ बर्फ खाना) या, एक बच्चे के रूप में, अप्रत्याशित रूप से वयस्क भाषण पैटर्न या तरीके का उपयोग करना। लेकिन वहां भी, बहुत से गैग्स को पूरी तरह से सराहना पाने के लिए जापानी संस्कृति और / या भाषा की समझ की आवश्यकता हो सकती है; उदाहरण के लिए, उनकी "मिस्टर एलीफैंट" छाप, भौतिक रूप से स्पष्ट होने के कारण, भौतिक जापानी संस्कृति के साथ गहरा अनुनाद भी है क्योंकि यह लोकप्रिय जापानी बच्चों के गीत "ज़ो-सान" को संदर्भित करता है।



    शिन-चान नियमित रूप से सुंदर महिला पात्रों के साथ घनिष्ठ हो जाता है जो उससे बहुत बड़े हैं, और हास्य का एक अतिरिक्त स्रोत इन पात्रों को लुभाने के उनके बचपन के प्रयासों से लिया गया है, जैसे कि उनसे पूछकर (अनुचित रूप से, कई स्तरों पर) "क्या आप पसंद करते हैं हरी मिर्च?"। वयस्कों से बात करते समय, वह लगातार पूछे जाने वाले प्रश्नों की कमी को प्रदर्शित करता है, जैसे कि "आप कितनी बार पुलिस में गए?" कठिन दिखने वाले पुरुषों या "आप कितने साल के हैं?" बुजुर्ग लोगों के लिए।

    श्रृंखला एक स्लाइडिंग टाइमस्केल के तहत काम करती है जहां पात्रों ने श्रृंखला के दौरान अपनी उम्र बनाए रखी है। हालांकि कई पॉप कल्चर आइकनों, विवाह, गर्भधारण और विभिन्न पात्रों के जन्म के समय में गिरावट के लिए समय बीत गया है, सभी पात्रों ने अभी भी अपने परिचय के समय अपनी उम्र बनाए रखी है। उदाहरण के लिए, यदि श्रृंखला में दो प्रमुख जन्मों को ध्यान में रखा जाता है (शिनोसुके की बहन, हिमावरी और उनके बालवाड़ी शिक्षक के बच्चे), शिनोसुके सात साल का होगा और दूसरी या तीसरी कक्षा में होगा, लेकिन वह नहीं है।


    भारत


    मोबाइल फोनों के एक हिंदी डब ने हंगामा टीवी पर भारत में 19 जून 2006 को प्रसारित किया, बाद में तमिल डब और तेलुगु डब में।

    मुख्य चरित्र के व्यवहार के बारे में माता-पिता से शिकायतें थीं और शो में बड़ों के प्रति दिखावे की प्रवृत्ति, दोनों को बच्चों पर नकारात्मक प्रभाव के रूप में देखा गया था। भारी नग्नता के कारण सूचना और प्रसारण (भारत) की कहानी द्वारा अक्टूबर 2008 में श्रृंखला पर प्रतिबंध लगा दिया गया था। प्रतिबंध से पहले, क्रेयॉन शिन-चान का हिंदी संस्करण चैनल के बाजार में 60% तक बढ़ गया। प्रशंसकों से कई अनुरोधों के बाद, भारतीय सेंसर बोर्ड ने सामग्री को बहुत अधिक संपादित किया और 27 मार्च, 2009 को भारतीय डब को पुनर्जीवित किया। [उद्धरण वांछित] चुटकुले अधिक परिवार के अनुकूल होने के लिए संपादित किए गए थे, और "शराब" के सभी उल्लेखों को बदल दिया गया था "रस" का उल्लेख है। जिन दृश्यों में कटौती की गई है, उनमें शिन-चान के उदाहरण "मिस्टर एलीफेंट" नृत्य या "बट-शेकिंग" नृत्य शामिल हैं, और नेने की माँ के गुस्से में भरवां खिलौना पिटाई के उदाहरण हैं।

    13 फिल्मों को हिंदी, तमिल और तेलुगु में डब किया गया है और हंगामा टीवी पर प्रसारित किया गया है। उन्हें टीवी पर शिन्हान के बारे में मूल कहानियों को भी दिखाना होगा।




    शिन चैन-एक ऐसा नाम है, जो इस प्रकार सुना है कि प्रशंसकों की उनकी विशाल सेना को प्रिय है, जो उसके बारे में बस उतावले हैं! कुल पारिवारिक कलाकार के रूप में यह वर्तमान में आया है, शिन चैन अनइंडिंग का एक निश्चित शॉट हिस्सा है। जैसा कि यह हो सकता है, सभी इस बच्चे के अवसरों के बच्चे के बारे में अशिष्ट नहीं हैं। जैसा कि डार्क पैरोडी और सुस्त डोल चरित्र के माध्यम से खुद को दिखाता है, शिन चैन पंडितों को भी आकर्षित करता है। हालांकि, शिन चैन की वास्तविक कहानी एक है जो आश्चर्यजनक रूप से विलाप है।

    जैसा कि हो सकता है, भले ही लड़खड़ाने वाले चुटकुलों में उग्र भीड़ और पंडितों के बीच एक जैसा हो, शिन चैन दुनिया भर में एक ब्रांड बनकर रहता है। टेलीविजन की व्यवस्था, पत्रिका के मुद्दे, आराध्य उत्पाद और एक टन सामान शिन चैन ब्रह्मांड को संक्षेप में प्रस्तुत करता है।

    वह व्यवस्था जो पांच वर्षीय शिंशुकोक "शिन" नोहारा (शिन-चान) और उसके लोगों, शिशु बहन, कैनाइन, पड़ोसियों, और साथियों के अनुभवों का अनुसरण करती है, कसुकाबे, सैतामा प्रान्त में स्थापित है। इसी तरह सबसे उल्लेखनीय जाल के रूप में स्थापित प्रतिष्ठान, 100 मिलियन से अधिक डुप्लिकेट के प्रस्तावों के साथ, शिन चैन यकीन है कि उनकी प्रस्तुति के 25 साल बाद भी ठोस हो रहा है।

    फिर भी, किसी भी घटना में, जब आप शिन चैन को टीवी पर देखते हैं और उसके अधिकांश उपक्रमों को बिना किसी संदेह के करते हैं, तो आप वास्तव में उसके बारे में क्या सोचते हैं? उनके वास्तविक नाम की तरह, या जिस तरह से शिन चैन एक वास्तविक बच्चा हो सकता है! वहाँ निश्चित रूप से इस बहुत से मोबाइल फोनों के चरित्र के रूप में वह परदे पर गुजरती दिखावे के अतीत है। संसार से उनके विलापपूर्ण अंत तक के पूज्य मंगा चरित्र की कहानी एक मनमौजी सवारी थी।


    1. शिन्हान को किसने बनाया?


    शिन चैन शायद सबसे अधिक उम्र के नए एनीमेशन चरित्र और एनीमे के दायरे में एक सकारात्मक आश्चर्य है। मंगा शिल्पकार योशितो उसुई द्वारा रचित और प्रस्तुत एक जापानी व्यवस्था, शिन चैन ने एक जापानी सप्ताह में साप्ताहिक पत्रिका एक्शन नाम से साप्ताहिक पत्रिका दिखाई, जिसे फुतबाशा द्वारा वितरित किया जाता है।

    2. शिन चैन का जन्म कब हुआ या शुरू हुआ?


    1990 में, शिन चैन मंगा सिबिलिटी उसुई के दायरे में दिखाई दिया।

    वैसे भी अपनी अनूठी संरचना में मंगा को 11 सितंबर, 2009 को समाप्त होने की आवश्यकता थी। एनीमेशन चरित्र 2010 के अंत में न्यू क्रेयॉन शिन-चान नाम से एक और मंगा के रूप में लौटा।

    शिन चैन ने शुरू में दरसुइया स्टोर मोनोगेटारी से चरित्र शिनोसुके निकेडो की एक साइड प्रोजेक्ट के रूप में शुरू किया, योशिटो द्वारा एक और व्यवस्था। एक एनीमे व्यवस्था के रूप में, शिन चैन ने 1992 में टीवी असाही पर अपना छापा डाला और कुछ प्रसारण कंपनियों को इस तारीख को आगे बढ़ाया। देर से, सुपर शिरो शीर्षक वाले शिन चैन के एक एनीमे पक्ष परियोजना की सूचना दी गई है।

    3. चान की मौत कैसे हुई?




    एक मंगा कॉमिक किरदार के रूप में जो दुनिया में गया जब 1992 में योशिटो उसुई ने शिन चैन बनाया, एनीमे व्यवस्था और उसके चरित्र को एक निष्कर्ष पर पहुंचने की आवश्यकता थी जब 11 सितंबर, 2009 को उसुई पास हो गया, उसके निधन से उसके निधन के मद्देनजर माउंट अराफून। रंग-बिरंगी पेंसिल शिन चैन वैसे भी मार्च 2010 तक जीवित रहती थी क्योंकि छोटे साथी सहित ताज़ा मूल प्रतियां मिलती थीं।

    जब 2009 में योशिटो उसुई का निधन हो गया, तो जापानी एनीमे चरित्र क्रेओन शिन-चान के एफिसिओनडोस ने टोक्यो में उयूसी को याद किया।

    4. शिन चैन का असली चेहरा उजागर करना


    एक एनीमेशन चरित्र के लिए जो छोटे बच्चों और बच्चों के मनोरंजन पर स्पष्ट रूप से ध्यान केंद्रित किया जाएगा, शिन चैन एक एनीमे व्यवस्था के रूप में आमतौर पर सुस्त है। यह, जैसा कि कई प्रशंसकों ने संकेत दिया है, इस आधार पर है कि मंगा का चरित्र एक वास्तविक नौजवान पर प्रदर्शित होता है, जो शिन चैन की कुछ वास्तविक कहानी को याद करता है।


    स्पष्ट रूप से, शिनोसुके नोहारा वह छोटा नौजवान है जिस पर एक बहु वर्षीय शिन चैन का चरित्र आधारित है। नोहरा ने अपनी अधिक युवा बहन को रोकने का प्रयास करते हुए एक ऑटो की टक्कर में बाल्टी को लात मार दी। उनके निधन के बाद, माँ मीसा का गहरा निराशा का समय आया और वह अपने खोये हुए बच्चे की खोज करने लगी। एक युवा नोहरा और उसकी शरारतें याददाश्त की चमक की तरह लौट आईं क्योंकि एक दुःखी मां ने अपने मृत बच्चे को चित्रण में उतारा। इसके बाद, जब उस्साई ने उन प्यारी कलात्मक कृतियों को देखा, तो वह एक ही समय में इन चित्रणों की निराशा और अपेक्षा की शक्ति से मारा गया था। एक वास्तविक बच्चे के रूप में कुछ क्रेयॉन वाली तस्वीरों के माध्यम से एक मंगा चरित्र के रूप में लौटा, दुनिया जल्दी से शिन चान की वास्तविक कहानी पर आ गई जो कि लंबे समय से पहले एक आश्चर्य के रूप में विकसित हुई थी।

    इन पंक्तियों के साथ संयोग से, यहां तक ​​कि एनीमेशन व्यवस्था के रूप में, शिन चैन कभी भी व्यवस्था के अंतिम दृश्य को प्रसारित नहीं कर सका। अंतिम दृश्य साथ ले जाया गया होगा

    शिन चान की वास्तविक कहानी जहां शिन चैन अपनी अधिक युवा बहन को शहर की सड़क पर एक ऑटो दुर्घटना से बचाने का प्रयास करता है। जैसा कि यह हो सकता है कि क्या शिन चैन वास्तव में एक वास्तविक बच्चे पर आश्रित एक चरित्र है, भले ही एक मुद्दे पर चर्चा और प्रतिष्ठित हो।



    5. क्या शिन चैन वास्तव में एक वास्तविक चरित्र है?


    जाहिर है, शिन चैन इसी तरह से यूसी के युवाओं का बहुत बड़ा चित्रण था। इस तरह के एक महान सौदे को पूरा करने के लिए एक उद्दंड बच्चे को अभी तक इस आधार पर नहीं बनाया जा सका है कि वह इस वर्तमान वास्तविकता से अत्यधिक प्रभावित था, जब उसुई ने उसे बनाने के बारे में निर्धारित किया था।

    एक टीवी व्यवस्था के रूप में जो वास्तविक मुद्दों और परिस्थितियों से संबंधित है, शिन चैन एक बड़ा एनीमेशन शो था, जब यह 1990 के दशक के दौरान पहली बार प्रसारित हुआ। फिर भी, जैसा कि इसकी सर्वव्यापकता विकसित हुई, वैसे ही शिन चैन ने 'विकसित' किया, क्योंकि एक परिवार एक बड़ी भीड़ को ध्यान में रखते हुए प्रदर्शित होता है। कोई बड़ी आश्चर्य की बात नहीं है, चरित्र की व्यापकता और व्यवस्था इसी तरह विस्तारित परिसर। इसके अलावा, शिन चैन की वास्तविक कहानी ने व्यक्तियों से बात की और व्यवस्था ने भव्यता को गोली मार दी।

    6. मोशन पिक्चर्स शिन चैन पर निर्भर करते हैं


    मोशन पिक्चर्स शिन चैन के चरित्र पर निर्भर करते हैं जो शिन चैन की वास्तविक कहानी को चित्रित करता है, जो सबसे उल्लेखनीय नेटिंग एनीमे व्यवस्था में 6 वें नंबर पर आता है।

    यह शिन चैन फिल्म शिन-चान और कासुकबे डिफेंस ग्रुप की यात्रा की जांच करती है क्योंकि वे सीखते हैं और एक अन्य सैन्य शिल्प कौशल खेलते हैं, निश्चित रूप से अया टाउन के चरण में कसुंग फू चुनौती है, अन्यथा कसुकाबे शहर का चाइनाटाउन कहा जाता है।

    पेस्टल शिन-चान: फास्ट सो! काल्पनिक दुनिया पर महान आक्रमण!

    शिन चैन की कहानी व्यवस्था में सबसे अधिक कमाई वाली फिल्म टाइटल किंडरगार्टनर और उनके परिवार का अनुसरण करती है क्योंकि वे सपनों के ब्रह्मांड में उद्यम करते हैं।

    शिन चैन की कहानी एक दुर्भावनापूर्ण मोड़ को स्वीकार करती है क्योंकि हमारे पिता हमारे छोटे संत और उनके परिवार के लिए परीक्षण समय प्रदर्शित करने के लिए एक रोबोट के रूप में लौटते हैं।

    एक बाहरी व्यक्ति के रूप में शिरिरी ने युवाओं के अभिभावकों को 'अजेय' रख दिया, ओनस ने शिन-चान पर उनके बड़े हो गए ढाँचे में वापस आने के लिए उनकी सहायता की।

    शिन चैन के परिवार की मेक्सिको में अदला-बदली की कहानी जहां वे घटना के मामूली झटके से कुछ अजीब कांटेदार पौधे के रहस्य को खोलते हैं।


    शिन चैन ने इस फिल्म की कहानी में जिम्मेदारी ली है क्योंकि उनके घर के नीचे एक झरने का दोहन किया जाना चाहिए ताकि दुनिया का प्रतिनिधित्व एक निस्तारण के लिए किया जा सके!

    हमारे पसंदीदा नूडल्स और एक बहुत उत्तरोत्तर सबसे ज्यादा पसंद शिन चैन इस अद्भुत जानवर से जूझ रहे फिल्म बनाते हैं।

    शिन चैन की पहली आनंदमय व्यंग्य गति चित्र में शिन चैन को हर एक बुरे घटक की खोज थी।

    शिन चैन और उनका परिवार दो परिवारों के बीच एक प्रतियोगिता में शामिल होता है, जो एक चक्र है जो एक अद्भुत उग्र आत्मा में जीवन को सांस लेने का विकल्प प्रदान करने का विकल्प देता है।



    यह क्रेयॉन शिन-चान व्यवस्था पर निर्भर सत्रहवीं फिल्म है।

    शिन चैन की समय-यात्रा की कहानी उसे एक बार फिर इस फिल्म में एक पुरुषवादी भगवान अनकोस्कुसाई को कुचलने के लिए लौटती हुई दिखाई देती है।


    इस बात पर ध्यान दिए बिना कि आप दुनिया के वास्तविक चित्रणों से परेशान नहीं हैं या पहचानने के लिए बड़े हैं, शिन चैन हास्य के कुछ हद तक सुस्त ब्रह्मांड के बारे में सोचने के लिए पर्याप्त नहीं हैं, उस बिंदु पर आपने सर्वोच्च सद्भाव पाया है। उन दिनों में लेट जाओ और उस बच्चे की शरारतों की सराहना करें जो शिन चैन है। किसी भी घटना में, उस समय तक कुख्यात अंतिम दृश्य दिखावा, अगर किसी भी बिंदु पर!




    1 comment:

    Post Top Ad

    Post Bottom Ad